संजय ने अपने दोस्त से अपनी भान्जी चुदवाई

 नाम संजय है. यह कहानी मेरी और मेरे बेस्ट मित्र से जुड़ी हुई है. अजय मेरा बेस्ट फ्रेंड है. मैं 39 साल का हूँ और वो 38 साल का. हम दोनों काम करते थे  हम एक सोशल नेटवर्किंग साइट पर भी अन्जाने में एक दूसरे से बात कर रहे हैं. और हमें काफी समय हो गया था.

वो दादर रेलवे स्टेशन पर टी.टी की जॉब करता था और मैं माहिम रेलवे स्टेशन पर. अजय मुझसे अपनी चाची की बात करता रहता था और मैं उसको अपनी मामी के बारे में बताता रहता था.

हमें बाद में पता चला कि हम दोनों वर्चुअल ही नहीं बल्कि रीयल लाइफ में भी दोस्त हैं. अजय की हाइट 5.5 फीट थी. वो हट्टा कट्टा था और उसको देख कर लगता था कि वो 45 को पार कर गया है.

एक दिन वो मेरे घर पर आ गया. वह मेरी मामी की जवानी को और करीब से देखने के लिए आया था. वह हमारी पहली मुलाकात थी. जब वो घर आया तो मैंने मीना को कॉफी बनाने के लिए कहा और वो कुछ ही देर में कॉफी बनाकर ले आयी.
मीना ने एक गुलाबी रंग की साड़ी और उस गहरे गुलाबी रंग का लो-नेक ब्लाउज पहना हुआ था. वो उसमें ऐसी लग रही थी कि मन कर रहा था उसको नंगी करके अभी उसकी चूत चाट कर उसका पानी निकाल दिया जाये. लेकिन अभी तो अजय उसके मजे लेने के लिए आया था.



उस दिन मीना ने अजय को पहली बार देखा था मगर मोबाइल पर होने वाली चैट पर वो एक-दूसरे को पहले से ही जानते थे. मीना भी अजय को देख कर खुश हो गई थी. वो उसको मामा बुलाती थी.
उसने कॉफी का कप टेबल पर झुक कर रखते हुए कहा- वेलकम अजय मामा. ये लीजिए आपके लिए कॉफी. फिर उसने दूसरा कप मेरी तरफ बढ़ाते हुए मुझसे कहा- संजय मामा, ये आपके लिये. झुकते हुए उसकी चूचियों की क्लीवेज पर मेरी नजर पड़ी तो मन किया कि इसको नंगी करके अभी चोद दूं.

अजय ने उसको पहली बार देखा था तो अजय की नजर उस पर से हट नहीं रही थी. मैंने इससे पहले अजय को मीना की बस एक ही फोटो दिखाई थी जिसको देख कर अजय मुट्ठ मारा करता था. अजय का लंड मैंने देखा हुआ था. वो एक महान लंड का मालिक था.
मैंने कहा- मीना यही अजय है जिससे मैंने तुम्हारी मोबाइल पर बात करवाई थी.

अजय ने उठ कर उसके साथ हाथ मिलाया और फिर मीना भी हमारे साथ ही बैठ गई.मीना अभी कुंवारी थी और उसकी उम्र 30 साल हो चुकी थी. मगर उसकी जवानी को देख कर लगता था कि वह 24-25 के आस-पास ही होगी. अभी तक वो अपनी चूत में लंड नहीं डलवाई थी.

मगर एक बार मेरा एक दोस्त श्याम उसको घर पर अकेली पाकर उसको जबरदस्ती नंगी करके उसके चूचे दबाते हुए नगे हाथ पकड़ा गया था. और चूचे मसलने के बाद वह मीना को चोदने की तैयारी में था तभी मैंने आकर डोरबेल बजा दी थी और उसकी चूत चुदने से बच गई थी.

मैंने उन दोनों ने कहा- तुम बातें करो तब तक मैं वॉशरूम जाकर आता हूं.
उठते हुए मैंने मीना की क्लीवेज देख ली. उसकी चूचियों की क्लीवेज देख कर मुझसे रहा न गया और मैंने बाथरूम में जाकर लंड हिलाना शुरू कर दिया. आह......मीना … रंडी … ले ले मेरा लंड … आह … करते हुए मैंने लंड को रगड़ दिया.

इधर अजय मीना को देख कर खुश हो गया था. उसका भी मन कर रहा था कि उसकी क्लीवेज के बीच में लंड को फंसा कर उसकी चूचियों को चोदते हुए सारा माल उसकी क्लीवेज की घाटी में गिरा दे.

तभी मीना अजय से पूछ बैठी- मामा, आपने अभी तक शादी क्यों नहीं करवाई?
अजय- मुझे एक लड़की ने धोखा दे दिया था. इसलिए मैंने शादी नहीं करवाई. मेरा प्यार और शादी पर से भरोसा उठ गया था. मैंने तो नहीं की लेकिन तुम कब कर रही हो?
मीना- वो तो संजय मामा ही बता सकते हैं.
अजय- कहीं प्यार-व्यार का चक्कर मे तो नहीं हो?
मीना- नहीं मामा, ऐसी कोई बात नहीं है.
अजय- इतनी मॉडर्न लड़की को किसी ने आज तक प्रपोज़ नहीं किया?
मीना- किया था 10-15 लड़कों ने, वो मुझे डेट पर भी लेकर गये थे लेकिन मैंने मना कर दिया क्योंकि मैं अभी लाइफ को इंजॉय करना चाहती थी. शादी देर से ही करूंगी. अभी तो मेरी इंजॉय करने की उम्र है अजय लंड.

अजय - हम्म … और वो सीकर वाले चाचा का क्या हुआ?
मीना- आपको कैसे पता मामा?
अजय- संजय ने ही बताया था. तुम्हारा नम्बर संजय मामा ने ही उसको दिया था.
मीना- हम्म.... मैं उससे बात करती थी लेकिन मुझे ये नहीं पता था कि उसको मेरा नम्बर संजय मामा ने दिया है.

जब मैं मुट्ठ मार कर बाहर आया तो देखा कि मेरे मोबाइल की रिंग बज रही थी.
मैंने कहा- अजय और मीना, तुम दोनों बातें करो, मैं एक जरूरी मोबाइल अटेंड करके वापस आता हूँ.

मेरे बाहर जाने के बाद मीना ने दरवाजे को अंदर से लॉक कर दिया. मैं बाहर मोबाइल पर बात कर रहा था लेकिन खिड़की से मेरी नज़र अंदर ही थी. मैं जानता था कि मीना होने के बाद अजय खुद पर ज्यादा देर तक काबू नहीं रख पाएगा.

अजय अपने मोबाइल में से मीना की फोटो उसको दिखाने लगा. उसके हाथ में मोबाइल देकर अजय ने आगे की और भी फोटो देखने के लिए कहा.
मीना ने आगे स्वैप किया तो उसने देखा कि अजय ने एडिटिंग करके उसके चेहरे को नंगी लड़कियों की फोटो पर लगा दिया है. मीना वो फोटो देख कर चौंक गयी. वह आगे देखने लगी तो उसको अजय के लम्बे और मोटे लंड की फोटो भी सेल मोबाइल में मिल गई. वो उनको देखते हुए अजय की तरफ देख कर मुस्कराने लगी.

अजय ने उसको अपनी गोद में बैठा लिया और मीना आराम से अजय की गोद में बैठ कर फोटो देखती रही. अजय का लंड टाइट हो गया था और मीना की गांड पर महसूस हो रहा था. फिर अजय के अंदर वासना जागने लगी और उसने मीना की कमर पर हाथ डाल दिये और उसके होंठों को किस करने लगा.

मीना अजय के लम्बे-मोटे लंड पर बैठी थी. उसको भी मजा आ रहा था. इधर दोस्त की भतीजी को अपने लंड पर बिठाकर अजय भी मजे ले रहा था. उसका लंड बार-बार मीना की गांड पर टक्कर मार रहा था कि उसकी प्यास बुझा दो. इधर मीना की सांसें भी भारी होने लगी थी. मीना अपनी गांड को अजय के लंड पर रगड़ते हुए उसके जोश को ज्यादा भड़काने लगी थी. इस से वो अजय के लंड को अपनी गांड पर और अच्छी तरह महसूस करने का कामुक अहसास भी पाना चाहती थी.

जिस तरह से वह अजय की तारीफ कर रही थी उससे लग रहा था कि मेरी भतीजी अजय के लंड की दीवानी हो चुकी है. कोई जवान लड़की अपने प्रेमी को भी इतना प्यार नहीं देती होगी जितना कि मीना अजय के जिस्म को दे रही थी.  मीना भी अपनी जवानी के चरम पर थी इसलिए लंड का स्वाद लेना उसके लिए जरूरी था. फिर अजय का लंड लेने लायक था . इसलिए वो अजय मामा को गर्म करने में कोई कसर नहीं छोडी थी.

मीना कहने लगी- जब मैं मोबाइल पर तुमसे बात करती थी तो मुझे आपकी आवाज सुनकर पता लग गया कि आपका लंड मोटा और लम्बा है. आपके लंड के लिए मेरी कुंवारी चूत तरसती रहती है. मैंने बहुत बार सोचा कि संजय मामा के पास बिस्तर पर नंगी सो जाऊं और अपनी चूत को उनके मोटे लंड से चुदवा लूं. मुझे उनका मोटा लंड बहुत पसंद है अजय मामा. उन्होंने भी अभी शादी नहीं की है. मैं उनका लंड चूस कर उनका माल अपने मुंह में निकलवाना चाहती थी.

अजय- आह्ह … आह्ह..... मीना तुम बहुत-ज्याद ही चुदक्कड़ हो चुकी हो.

अजय ने मीना को चूसना शुरू कर दिया. फिर अपने शरीर से थोड़ी दूर हटाकर उसके चूचों को चूसना शुरू कर दिया. अजय अब मीना के ब्लाउज के हुक खोलने लगा. साथ ही वह उसकी गर्दन पर चूम रहा था. उसका लंड बेकाबू हो गया था. वो मीना को आह्ह रंडी.....आह्ह रंडी …आह्ह रंडी.... कहता रहा. अब तक उसने मीना के ब्लाउज को निकाल कर उसके चूचों को नंगा कर दिया था.

फिर अचानक दरवाजे की घंटी बजी. उन दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े पहने.

अजय उठ कर दरवाजा खोलने के लिए गया तो दरवाजे पर समीर खड़ी थी. मैंने अभी तक समीरा के बारे में अजय को कुछ नहीं बताया था. वो एक कमसिन कली थी. 26 साल की कुंवारी कली जिसका फीगर 30-32-38 था. उसकी हाइट 5.8 फीट थी.
दोनों एक दूसरे को खड़े होकर वहीं पर देखते रहे. तभी मीना उठकर आई और पीछे से बोली- अरे समीरा, तुम आज इतनी जल्दी कैसे ?

फिर उसने अजय से परिचय करवाते हुए कहा- समीरा, ये अजय मामा हैं, संजय मामा के दोस्त.
फिर उसने समीरा का परिचय अजय से करवाते हुए कहा- अजय मामा, ये मेरी समीरा बहन है.

उन दोनों ने आपस में हाथ मिलाया और अजय दोनो जवान चूतों को चोदने की खुशी में मस्त हो गया.अजय सोफे पर बैठ गया और समीरा  ड्रेसिंग रूम में जाते हुए बोली- मैं अभी चेंज करके आती हूं.

कुछ ही देर में समीरा बाहर आते हुए सामने सोफे पर अजय के सामने बैठ गई, वो बोली- संजय मामा ने आपके बारे में कई बार बताया था कि आप उनके फ्रेंड हो.
अजय की नजर समीरा पर फिसलने लगी. उसने काले रंग का टॉप और स्कर्ट पहनी हुई थी. वो सोचने लगा कि इसको तो सोफे पर बैठा कर अपना लंड इसकी चूत में डालकर इसको लंड की सवारी करवाने में बहुत मजा आयेगा.



समीरा और मीना दोनों ही अजय के साथ बैठी थी. अजय का लंड उसकी पैंट में खड़ा हो गया था. मीना की गांड को छूकर आया हुआ तनाव तक गया नहीं था. ऊपर से अब समीरा की जवानी को देखकर उसके लंड का बुरा हाल होने वाला थी.
मीना ने कहा- समीरा, तुम बाहर से आई हो थक गई होगी. कुछ खालो. अगर किचन में जाओ तो अजय मामा के लिए भी कुछ स्नैक्स बना देना. वो पहली बार तेरे हाथ का स्वाद लेना चाहते हैं.

जब मीना भी जानती थी कि अजय समीरा के हाथ का नहीं बल्कि उसकी चूत का स्वाद लेना चाहता था. मगर अभी वो समीरा को वहां से अंदर भेज कर खुद अजय के मोटे लंड के मजा लेना चाहती है.

समीरा बोली- ठीक है बहन, मैं अपने और अजय मामा के लिए किचन में जाकर कुछ स्नैक्स बना लेती हूं. तब तक आप अजय मामा से बात कर लो .

मीना समीरा की ओर देख कर मुस्करा दी. उसका रास्ता साफ था. वह अजय के खड़े लंड को अपने हाथ में भरने के लिए बेताब थी. इसलिए समीरा के जाते ही वह अजय की टांगों के बीच में जाकर नीचे जमीन पर बैठ गई. उसने अजय की जिप को खोला और उसका मोटा लंड बाहर निकाल लिया.

अजय का तना हुआ लंड तो पहले से ही भूखा था. मीना ने अजय का लंड अपने मुंह में लिया और उसको आंखें बंद करके चूसने लगी. अजय ने मीना के सिर को पकड़ लिया और उसके मुंह को चोदने लगा और मजे में सिसकारने लगा- उम्म्ह… अहह… हय… याह…

फिर अजय ने मीना की चूचियों को भींचना शुरू कर दिया. मीना समीरा के आने से पहले अजय के लंड का स्वाद चखना चाहती थी. इसलिए उसने अपनी साड़ी ऊपर उठाते हुए पैंटी को नीचे सरका लिया और सोफे पर टांगें फैलाकर बैठे हुए अजय के खड़े हुए लंड पर अपनी चूत को सेट करते हुए नीचे बैठती चली गई.

अजय ने उसकी कमर को थाम लिया और पूरा लंड मीना की चूत में डाल दिया. जल्दी ही मीना अजय के लंड पर उछलने लगी. सेक्स दोनों पर ही सवार था मगर मुंह से आवाज निकाल कर वो समीरा को दावत नहीं देना चाहती थी. इसलिए अंदर ही अंदर दबी हुई सिसकारियों के साथ अजय के लम्बे और मोटे लंड से चुदते हुए मजा लेने लगी.

अजय की हालत बुरी थी. मीना जैसी कमसिन लड़की की चूत में लंड को पेलते हुए ऐसे देख रहा था जैसे आज उसकी चूत को खा ही जायेगा. स्स्स … स्सस … ऊंह्ह … की बेहद हल्की सी आवाज दोनों के मुंह से निकल रही थी.

चुदते हुए मीना के चूचे उसके ब्लाउज में झूल रहे थे जिनको अजय कैद से आजाद करके उनका रस पीना चाहता था. उसने मीना के ब्लाउज तक हाथ भी बढ़ाए मगर मीना ने उसके हाथों को रोकते हुए समीरा के आने के डर का इशारा कर दिया. इसलिए वो मीना के मस्त चूचों को अपने हाथों से दबाने की कोशिश करने लगा.

मीना की चूत में अजय का लंड तेजी से अंदर-बाहर हो रहा था. मीना हुस्न की मल्लिका थी इसलिए अजय का लंड ज्यादा देर उसकी चूत की गर्मी के सामने टिक नहीं पाया और उसने उसकी चूत में अपना लावा उगल दिया.

अजय ने धक्के देने बंद कर दिये तो गीता समझ गई कि अजय का माल उसकी चूत में खाली हो चुका है. अपनी साड़ी को नीचे करते हुए वो उठकर दूसरी तरफ जा बैठी. अभी तक अजय का लंड उसकी जिप के बाहर ही था जो धीरे-धीरे सिकुड़ते हुए अपने आकार में आ रहा था. गीता अपने कपड़ों को दुरुस्त कर रही थी कि तभी पीछे से समीरा दबे पांव स्नैक्स की प्लेट हाथ में लिए उनकी तरफ आती हुई दिखाई दी.

अजय का लंड उसकी जिप के बाहर लटका हुआ था. गीता ने अजय को इशारा करने की कोशिश भी की कि वो अपने लंड को अपनी जिप के अंदर डाल ले मगर अजय की आंखें अभी चूत-चुदाई के नशे में बंद थीं और तब तक समीरा अजय के करीब पहुंच चुकी थी.

लेखक के आग्रह पर इमेल आईडी नहीं दिया जा रहा है.
संजय ने अपने दोस्त से अपनी भान्जी चुदवाई संजय ने अपने दोस्त से अपनी भान्जी चुदवाई Reviewed by Robert on March 18, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.